http://blogsiteslist.com
इतिश्री लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
इतिश्री लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

बुधवार, 21 अगस्त 2013

हत्या हुई है एक चिन्तक की चिन्ता किसे है

चिन्तक डा. नरेंद्र दाभोलकर
की हत्या पर आना
शुरु हो गये हैं वक्तव्य
नृशंश हुई है हत्या
अब कह रहे हैं लोग
समाज की भलाई
की सोच लेकर चल
रहे होते हैं लोग
ऎसे लोगों की ही
हत्या सरेआम कर
रहे होते हैं लोग
कोशिश रोज ही
की जाती है
हत्याऎं होती रहें
ऎसे लोगों के
विचारों की
विचार ज्यादा
शक्तिशाली
हो जाते हैं
काबू में आने से
इन्कार कर जाते हैं
ऎसे में बौखला
जाते हैं लोग
पहले बहुत
कम होता था
संचार माध्यम
ऎसा नहीं था
पता भी कहाँ
चलता था
अब तुरंत बात
फैला देते हैं लोग
अब तो रोज ही
बेखौफ हत्या
करने लगे हैं लोग
बने हुऎ हैं
इसपर भी
मूकदर्शक लोग
बस वक्तव्य
देने में नहीं
कतराते हैं लोग
विचार जब तक
जिंदा रहते हैं
विचार को अनदेखा
कर जाते हैं लोग
निर्विकार भाव दिखा
कर विचार से
कतराते हैं लोग
इसी श्रृंखला में
आज एक सामाजिक
विचारक का मुंह
बंद करा गये हैं लोग
पता चलते ही
श्रद्धांजलि देना शुरु
कर इतिश्री करने
की तरफ जाने
लगे हैं लोग
शर्म आ रही हो
उन्हे बहुत ही
जैसे शरमाने
लगे हैं लोग
कहीं दूसरी ओर
विचारों को कत्ल
करने की नई
योजना बनाने
शुरु हो गयें है लोग ।

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...