http://blogsiteslist.com
उलट लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
उलट लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

बुधवार, 8 अगस्त 2012

दूध मत दिखा दही जमा

सब सब
देखते हैं
तू भी देख
कर आ
किसी ने
नहीं है
तुझको
कहीं रोका

थोड़ा
बतायेगा
चलेगा
सब कुछ
मत बता
हमको भी
तो रहता
ही होगा
कुछ पता

कोई नई
छमिंंया
देख कर
आया है
अगर तो
किस्सा
सुना जा
काले बादल
की तरह रोज
कड़कड़ाता
है यहाँ
कभी
रिमझिम
सी बारिश
की फुहार
भी दिखा जा

कभी कभी
कहीं पर
थोड़ी मेहनत
भी कर
लिया कर
कहाँ जा
रही है
दुनियाँ
नये जमाने
में देख
भी कुछ
लिया कर

देखते सुनते
सभी आते हैं
कुछ ना कुछ
इधर उधर
बनाते हैं
अपने सपने
अपने ख्वाब
भी मगर

एक तू है
लकीर को
पीटने वाला
फकीर बन
जाता है
जो जो देख
कर आता है
यहाँ ला
कर उलट
पलट जाता है

अरे कुछ
अच्छा होता
तो अखबार
में नहीं आ
रहा होता
साथ में
माला पहने
हुऎ तेरी
फोटो भी
दिखा
रहा होता

कब
सुधरेगा
अब तो
सुधर जा
लोगों से
कुछ
तो सीख
कब ये
सब सीखेगा

दूध देख
कर आता
है तो थोड़ा
जामुन भी
मिला
लिया कर
दही बना
कर चीनी
के संग भी
कभी किसी
को खिला
दिया कर
खाली खाली
दूध यहाँ
मत लाया कर
लाता ही है
किसी मजबूरी
में अगर
रख दिया कर
कम से कम
रोज तो ना
फैलाया कर ।

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...