http://blogsiteslist.com
उसके लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
उसके लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

शनिवार, 31 मई 2014

साथ होना अलग और कुछ होना अलग होता है

उसके और मेरे बीच
कुछ नहीं था
ना उसने
कभी कहा था
ना मैंने कभी
कोशिश की थी
कुछ कहने की
अब 
आपस में
बात करने का
मतलब कुछ
कहना होता है
ऐसा जरूरी भी
नहीं होता है
बहुत साल
आस पास
रह लेने से भी
कुछ नहीं होता है
साथ साथ बड़ा होना
खेलना कूदना
घर आना जाना
कहीं घूमने
साथ चले जाना
एक रास्ते से
बहुत सालों तक
एक सी जगहों
को टटोलना
बहुत से लोग
करते हैं
रास्ते अलग
हो जाते हैं
लोग अलग
अलग दिशाओं
को चले जाते हैं
यादों का क्या है
उनका काम भी
आना और जाना
ही होता है
वो भी आती
जाती रहती है
कभी किसी की
आ जाती है
कभी किसी की
आ जाती है
कुछ देर के
लिये ही सही
बहुत से लोगों
के बीच बहुत
कुछ होने से
भी क्या होता है
उससे भी क्या होता है
अगर कोई कभी
उसके मेरे बीच
कभी भी कुछ नहीं था
कह ही देता है।

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...