http://blogsiteslist.com
ऊषा लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
ऊषा लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

बुधवार, 29 अक्तूबर 2014

दो शादी करने के भी होते हैं फायदे कभी कभी छठ पूजा ने इतना तो समझाया

छठ पूजा
पर खबर
चल रही थी
मतलब की बात
कुछ भी नहीं
निकल रही थी
अचानक सूत्रधार
ने कुछ
ऐसा बताया
कान पहले
दायाँ हिला
फिर बायाँ भी
ऐसा लगा कुछ नया
सा हाथ में
फिसल कर
चला आया
इतना कुछ
इधर उधर का
लिखा पढ़ा
कहीं कुछ भी
काम में नहीं आया
तब जाकर कुछ
सोच कर कुछ
नया सीखने
पढ़ने का
मन बनाया
शादी हुऐ
हो गये
इतने बरस
इतनी छोटी सी
बात पर ध्यान
नहीं जा पाया
सूर्य देवता
की भी थी
दो पत्नियाँ
किसी भी पत्नी
ने अपने पति
को इस बात
को पता नहीं
क्यों नहीं बताया
इतनी उर्जा
इतनी शक्ति
कैसे इस सब
के बाद भी
जमा किया
सूरज अपने में
साथ साथ सारी
सृष्टि में भी
बाँट पाया
कभी भी नहीं
हुआ ऐसा
सुबह किसी दिन
थोड़ा देर से हो
निकल कर आया
महान देवता सूर्य
और उनकी
महान पत्नियाँ
ऊषा और प्रत्यूषा
को नमन करते हुऐ
छठ पूजा के
मौके पर
उलूक
ने भी सम्मान में
हाथ जोड़ कर
अपना सर झुकाया
शायद आ जाती हो
शक्ति बहुत
एक के बाद
दूसरी करने पर
ये बात जरूर
इस बात से
समझ पाया
बस केवल
दूसरी करने की
शक्ति और हिम्मत
ही नहीं जुटा पाया
हर पर्व कुछ ना
कुछ समझाता है
कौन बताता है
किसकी समझ में
क्या है आया।

चित्र साभार:
www.royalty-free-clip-art-of.com

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...