http://blogsiteslist.com
कंसेप्ट लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
कंसेप्ट लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

गुरुवार, 28 फ़रवरी 2013

भूख भगा डबलरोटी की सोच ले और सो जा


उसे ये बता कर
कि कल रात से
बगल में मेरे वो
भूखा है सोया हुआ
मुझे अपनी आफत
नहीं बुलानी है
जो एक्स्पायरी डेट
छपे हुऎ डिब्बा बंद
खाना बनाने की
तकनीक का कंंसेप्ट
सीखकर मेरे और
मेरे आस पास के
भूखे लोगों को
तमीज सिखाने
भिजवाया गया है
वो चाँद सोचता है
और बस चाँद
ही खोदता है
भूखों के लिये
रोटी के सपने
तैयार करने
वाली मशीन
का कंंसेप्ट उसे
देने वाला अब
भूखों को
उलझाता है
इधर जब
ये प्यार से
झुनझुना
बजाता है
इस तरह
उसपर से
बोझ सारा
अपने ऊपर
ले आता है
चिन्ता सारी
त्याग कर
वो चैन से
चाँद खोदने
चाँद की ओर
चला जाता है
एसे ही धीरे धीरे
एक सभ्य समाज
का निर्माण हम
भूखों के लिये
हो जायेगा
क्योंकी बहुत से
लोगों को चाँद
सोचने का मौका
हथियाने का
तमीज आ जायेगा
मैं और मेरे जैसे
भूखे भी सीख लेंगे
एक दिन चाँद की
तरफ देखने की
हिम्मत कर ले जाना
और भूखे पेट
लजीज खाने के
सपने बेच कर
चैन से सो जाना ।

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...