http://blogsiteslist.com
कलगी लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
कलगी लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

सोमवार, 11 जून 2012

डिस्को मुर्गे

समय के साथ
चलना जरूरी है
परिवर्तन के साथ
बदलना मजबूरी है
मुर्गे स्वदेशी इसी
चीज के पीछे
पीछे जा रहे हैं
अपनी को टोपी के
नीचे छिपा कर
ऊपर से विदेशी
कलगी लगा रहे हैं
जब तक मुँह नहीं
खोलते अच्छा प्रभाव
भी जमा रहे हैं
पर बाँग देते समय
बेचारे रंगे हाथों
पकड़े भी जा रहे हैं
अब अपने घर के
अपने ही मुर्गे हैं
हम भी कुछ कह
नहीं पा रहे हैं
उनकी बेढंगी चालों
पर ताल बजा रहे हैं
ना चाहते हुवे भी
एक मौन स्वीकृति
दिये जा रहे हैं ।

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...