http://blogsiteslist.com
कहावत लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
कहावत लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

मंगलवार, 19 नवंबर 2013

ये तो होना ही था

जो हो रहा था
अच्छा हो रहा था
जो हो रहा है
अच्छा हो रहा है
जो आगे होगा
वो अच्छा ही होगा
बस तुझे एक बात का
ध्यान रखना होगा
बंदर के बारे में
कुछ भी कभी भी
नहीं सोचना होगा
बहुत पुरानी कहावत है
मगर बड़े काम की
कहावत नजर आती है
जब मुझे अपने
दिमाग में घुसी
भैंस नजर आती है
अब माना कि
अपनी ही होती है
पर भैंस तो भैंस होती है
उसपर जब वो किसी के
दिमाग में घुसी होती है
जरा जरा सी बात पर
खाली भड़क जाती है
कब क्या कर बैठे
किसी को बता कर
भी नहीं जाती है
दूसरों को देख
कर लगता है
उनकी भी कोई
ना कोई तो भैंस
जरूर होती होगी
तो मुझे खाली क्यों
चिंता हो जाती है
अपनी अपनी
भैंस होती है
जिधर करेगा मन
उधर को चली जाती है
अब इसमें मुझे
चिढ़ लग भी जाती है
तो कौन सी बड़ी
बात हो जाती है
लाईलाज हो बीमारी तब
हाथ से निकल जाती है
अखबार की खबर से
जब पता चलता है
कोई भी ऐसा नहीं है
मेरे सिवाय यहाँ पर
जिसके साथ इस तरह
की कोई अनहोनी
होती हुई कभी यहां
पर देखी जाती है
होती भी है किसी के
पास एक भैंस
वो हमेशा तबेले में
ही बांधी जाती है
सुबह सुबह से इसी
बात को सुनकर
दुखी हो चुकी मेरे
दिमाग की भैंस
पानी में चली जाती है
तब से भैंस के जाते ही
सारी बात जड़ से
खतम हो जाती है
परेशान होने की
जरूरत नहीं
अगर आपके
समझ में 'उलूक'
की बात बिल्कुल
भी नहीं आती है ।

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...