http://blogsiteslist.com
कापी लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
कापी लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

मंगलवार, 24 अप्रैल 2012

कूड़ा (दो)

किसी ने
कहा है
क्या
तुझसे
कुछ लिख

इस पर
भी लिख
उस  पर
भी लिख

कुछ होता
है अगर
तो होने
पर लिख
नहीं होता
है कुछ तो
नहीं होने
पर लिख

सब लिख
रहे हैं
तू भी
कुछ लिख

किताब
में लिख
कापी
में लिख
नहीं मिलता
है लिखने
को तो
बाथरूम
की ही
दीवारों
पर ही लिख

पर
सुन तो
कुछ
अच्छा सा
तो लिख

रोमाँस
पर लिख
भगवान
पर लिख
फूलों
पर लिख
आसमान
पर लिख

औल्ड कब
तक लिखेगा
कुछ बोल्ड
ही लिख

लिखना
छोड़ने को
कहने की
हिम्मत नहीं
पर इतना
तो बता

किसने
कहा
तुझसे
'उलूक'
तू कूड़े
पर लिख
और
कूड़ा
कूड़ा
ही लिख।

चित्र साभार: imageenvision.com

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...