http://blogsiteslist.com
किसका लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
किसका लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

शुक्रवार, 25 अप्रैल 2014

उसका आदमी कहता है तुझे कोई तो क्यों शरमाता है यार

एक पत्नी होना
और उसका ही
बस आदमी होना
एक बहुत बड़ी
बात है सरकार
उसके बाद भी
किसी और का
आदमी होना
ही होता है
नहीं हो पाया है
अगर कोई तो
उसका जीना ही
होता है बेकार
अपने नाम से
अपने काम से
अगर जाना जा
रहा है कोई
समझ लेना
अच्छी तरह
किसी काम में
कहीं नहीं लगाया
जा रहा है
भटक रहा है
जैसे होता है
एक बेरोजगार
कुछ भी नहीं
हाथ में आयेगा
इस जीवन में
व्यर्थ में
चला जायेगा
इस पार से
कभी किसी
दिन उस पार
एक आदमी
कहीं ना कहीं
होता ही है
किसी ना किसी
का आदमी
ऊपर से नीचे
तक अगर
देखता चला जायेगा
नीचे वाला
किसका है
साफ पता
चल जायेगा
सबसे ऊपर
वाला किसका
है आदमी
बस यही बात
बताने के लिये
कोई भी नहीं
मिल पायेगा
समय रहते पानी
का देखता
हुआ बहाव
तैरना सीख
ही लेता है
आज का
एक समझदार
निभाता क्यों नहीं

उलूक तू भी किसी
एक इसी तरह के
एक आदमी
का किरदार
कल जब उसकी
आ जायेगी सरकार
तुझे क्या
लेना और देना
वो वहाँ क्या करता है
तुझे मालूम ही तेरा
यहाँ रहेगा
अपना ही कारोबार
खाली आदमी होने में
और किसी आदमी
के आदमी होने में
अंतर है बहुत बड़ा
समझाया जा चुका है
एक नहीं कई कई बार
बाकी रही तेरी और
तेरे देश की किस्मत
किसका आदमी
कहाँ जा कर
करता है
अपना वार
इस बार ।   

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...