http://blogsiteslist.com
कुंवारा लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
कुंवारा लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

शनिवार, 5 अक्तूबर 2013

कहानी की भी होती है किस्मत ऐसा भी देखा जाता है

कहानियां बनती हैं
एक नहीं बहुत
हर जगह पर
अलग अलग
पर हर कहानी
एक जगह नहीं
बना पाती है
कुछ छपती हैं
कुछ पढ़ी जाती हैं
अपनी अपनी
किस्मत होती है
हर कहानी की
उस किस्मत के
हिसाब से ही
एक लेखक और
एक लेखनी
पा जाती हैं
एक बुरी कहानी
को एक अच्छी
लेखनी ही
मशहूर बनाती है
एक अच्छी कहानी
का बैंड भी एक
लेखनी ही बजाती है
पाठक अपनी सोच के
अनुसार ही कहानी का
चुनाव कर पाता है
इस मामले में बहुत
मुश्किल से ही अपनी
सोच में कोई
लोच ला पाता है
मीठे का शौकीन मीठी
खट्टे का दीवाना खट्टी
कहानी ही लेना चाहता है
अब कूड़ा बीनने वाला
भी अपने हिसाब से ही
कूड़े की तरफ ही
अपना झुकाव दिखाता है
पहलू होते हैं ये भी
सब जीवन के ही
फ्रेम देख कर पर्दे के
अंदर रखे चित्र का
आभास हो जाता है
इसी सब में बहुत सी
अनकही कहानियों की
तरफ किसी का
ध्यान नहीं जाता है
क्या किया जाये
ये भी होता है
और बहुत होता है
एक सर्वगुण संपन्न
भी जिंदगी भर
कुवांरा रह जाता है ।

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...