http://blogsiteslist.com
खान लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
खान लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

रविवार, 1 जून 2014

जैसा यहाँ होता है वहाँ कहाँ होता है

कभी कभी बहुत
अच्छा होता है
जहाँ आपको
पहचानने वाला
कोई नहीं होता है
कुछ देर के
लिये ही सही
बहुत चैन होता है
कोई कहने सुनने
वाला भी नहीं
कोई चकचक
कोई बकबक नहीं
जो मन में आये करो
कुछ सोचो
कुछ और लिख दो
शब्दों को उल्टा करो
सीधा कर कहीं
भी लगा दो
किसे पता
चल रहा है कि
अंदर कहीं कुछ
और चल रहा है
कोई भी किसी को
देख भी नहीं
रहा होता है
सच सच
सब कुछ सच
और साफ साफ
बता भी देने से
कोई मान जो
क्या लेता है
वैसे भी हर जगह
का मौसम
अलग होता है
सब की अपनी
लड़ाईयाँ
सबके अपने
हथियार होते हैं
किसी के दुश्मन
किसी और के
यार होते है
पर जो भी होता है
यहाँ बहुत
ईमानदारी
से होता है
बेईमानी कर
भी लो थोड़ा
बहुत कुछ अगर
तब भी किसी को
कुछ नहीं होता है
सबको जो भी
कहना होता है
अपने लिये
कहना होता है
अपना कहना
अपने लिये
उसी तरह से
जैसे अपना खाना
अपना पीना
होता है ।

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...