http://blogsiteslist.com
चप्पल लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
चप्पल लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

रविवार, 27 अक्तूबर 2013

सबसे बड़ा सच तो झूठ होता है

सच को
बस छोड़कर
सब कुछ
चलता हुआ
दिखाई देता है
सच सबके
पास होता है
जेब में कमीज
और पेंट की
हाथ में कापी
और किताब में
एक के सच
से दूसरे को
कोई मतलब
नहीं होता है
अपने अपने
सच होते हैं
सब का आकार
अलग होता है
जैसे किसी के पैर की
चप्पल या जूता होता है
एक का सच दूसरे के
काम का नहीं होता है
कोई किसी के सच के
बारे में किसी से
कुछ नहीं कहता है
हाँ झूठ बहुत ही
मजेदार होता है
सब बात करते
हैं झूठ की
झूठ का आकार
नहीं होता है
एक का झूठ
दूसरे के भी
बहुत काम
का होता है
पर किसी को
पता नहीं होता है
झूठ कहाँ होता है
सूचना का अधिकार
झूठ को ही ढूंढने का
ही हथियार होता है
सबसे ज्यादा
चलता हुआ
वही पाया जाता है
सच बेवकूफ
मैं सच हूं
सोच सोच कर
एक जगह ही
बैठा रह जाता है
जहाँ पहुचने की कोई
सोच भी नहीं सकता
झूठ जरूर
पहुंच जाता है
झूठ के पैर
नहीं होते है
बहकाने के
लिये ही शायद
कह दिया जाता है ।

मंगलवार, 22 मई 2012

चप्पल और ओपन हार्ट

हृदयाघात होने का
जैसे ही हुवा अंदेशा
लल्लू शहर छोड़
हार्ट केयर सेंटर पहुंचा
ऎंजियोग्राफी
की नौबत आई
डाक्टर ने ओपन हार्ट
सर्जरी की राय बनाई
तुरंत ही कर दिया जायेगा
बस पाँच से छ:लाख का ही
खर्चा इसमें आ जायेगा
क्या करता बेचारा
किस्मत का मारा
आपरेशन थियेटर को जब
ट्राली ले जायी जा रही थी
लल्लू को अपनी हवाई चप्पल
की चिंता सताये जा रही थी
डाक्टर साहब आपरेशन
थोड़ा सा टलवा दीजिये
मेरे भाई से मेरी चप्पल
पहले आप सम्भलवा दीजिये
नामी सर्जन बिल्कुल भी
नहीं तिलमिलाया
बस थोड़ा सा मुस्कुराया
चप्पलों को एक पोलिथिन
लाकर खुद उस में बंधवाया
लल्लू को दिखा कर बाहर
खड़े उसके भाई पप्पू के
हाथ में थमा आया
चप्पल देख कर पप्पू
थोड़ी देर को चकराया
फिर जा कर चप्पल की
थैली रिसेप्शन के एक कोने
में रखकर चला आया
आपरेशन चल रहा था
पप्पू भी सोफे में लेटा
लेटा जम्हाइयाँ भर रहा था
इतने में पप्पू की बेगम
पप्पी वहाँ पर आई
पप्पू ने पप्पी को सारी
बात फटाफट समझाई
वो जब रिसेप्शन पर
जाकर देख के आई
चप्पल की थैली वहाँ
से गायब देख कर
घबरा के लौट के आई
उधर आपरेशन चलता
चला जा रहा था
इधर चप्पल का गायब होना
पप्पू और पप्पी का चैन
उडा़ता जा रहा था
पप्पी ने अचानक दिमाग
अपना खुजलाया
रिसेप्शन पर जा कर
ह्ल्ला जोर से मचाया
सी सी टी वी खुलवाने
का जब भय दिखाया
दरवाजे पर खड़ा दरबान
तुरंत थैला लेकर आया
बोला मैने आपकी चप्पलों
का बहुत ख्याल रखा था
इसी लिये इसको संभाल
के अपने पास रखा था।

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...