http://blogsiteslist.com
छोटे विचार लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
छोटे विचार लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

सोमवार, 23 नवंबर 2015

गजब है सोचा भी नहीं कभी कभी ये सब भी यहीं पर होना है

उसे मालूम है
किसी के कुछ
भी कहने देने से
कहीं भी कुछ भी
नहीं होना है
उसी के सारे
कहने वालों ने
मिलकर सब कुछ
उसी का कहना
उसी के शब्दों
उसी की भाषा
उसी की आवाज
में ही कहना है
बड़ा बैनर है
बड़ी बातें को
बड़े बड़े खम्भों
के बीच में बड़ी
शान से रहना है
खड़े हैं चाहे बड़े हैं
खम्भों का बोझ
कौन सा किसी
को अपने कंधों
पर ही सहना है
छोटे छोटे
छोटे नारों के
छोटे विचारों के
छोटे करतब बाजों
को एक खम्भे से
दूसरे खम्भे तक
दौड़ते कूदते रहना है
बहस होनी है
देश के लिये
देशवासियों के सिवा
इसने उसने सभी
ने उसमें रहना है
भाग लेना है
कहना क्या है
क्या नहीं है ना सोचना
इसने है ना उसने है
समझने की बात है
समझने वालों के लिये
नासमझ होने से
दिखाने से इसका
उसका सबका
ही भला होना है
अपनी बातों को
अपनी सोच के
साथ बस चाँद
तारों की दुनियाँ के
लिये छोड़ देना है
मत कर ‘उलूक’
इतनी हिम्मत
सब कुछ कह देने
की अपनी अपनी
अपनी कह देने वाले
को सुना है अब
यहाँ नहीं कहीं
और जा कर रहना है ।

चित्र साभार: es.dreamstime.com

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...