http://blogsiteslist.com
जंग लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
जंग लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

मंगलवार, 21 जुलाई 2015

‘उलूक’ की फटी म्यान और जंग खायी हुई तलवार

चाँद तारे
आसमान
सूरज पेड़
पौंधे भगवान
जानवर पालतू
और आवारा
सब के अपने
अपने काम
बस आदमी
एक बेचारा
अपने काम
तो अपने काम
ऊपर से देखने
की आदत
दूसरे की बहती
नाक और जुखाम
कुछ के भाव कम
कुछ के भाव ज्यादा
कुछ अकेले अकेले
कुछ बाँट लेंगे
आधा आधा
कुछ मौज में
खुद ही बने हुऐ
मर्जी से प्यादा
कुछ बिसात
से बाहर भी
बिना काम
किस का फायदा
किसका नुकसान
अपनी अपनी
किस्मत अपना
अपना भाग्य
किताबें पढ़ पढ़
कर भी चढ़े
माथे पर दुर्भाग्य
इसकी बात
उसकी समझ
उसकी बात
उलट पलट
‘उलूक’ की आँखें
‘उलूक’ की समझ
‘उलूक’ की खबर
‘उलूक’ का अखबार
रहने दे छोड़
भी दे पढ़ना
भी अब यार
कुछ बेतार
कुछ बेकार ।

चित्र साभार: openclipart.org

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...