http://blogsiteslist.com
ज़न्नत लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
ज़न्नत लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

सोमवार, 21 सितंबर 2009

कर्ण

ज़िंदगी में
कितनी बार
मरे कोई
बार बार
मर के
जिंदा
रहे कोई
मरने के बाद
ज़न्नत की
बात करे कोई
ज़न्नत और
दोज़ख ज़िंदा
रह कर
भोगे कोई
मांगने को
हिकारत से
देखे कोई
फिर भी
ताज़िंदगी
मंगता रहे कोई
एक भिखारी
को कौडी़
दे कर कोई
कर्ण बनने
का दम
भरता कोई
पैदा होते दे दे
कहता कोई
माँ बाप
बहन भाई
से लेता कोई
औरत बच्चे
झूटे सच्चे
से मांगे कोई
मंदिर मस्जिद
चर्च गुरुद्वारा
झांके कोई
बुडा़पे में जवानी
जवानी में रवानी
मांगे कोई
मांगे मांगे भिखारी
बन गया कोई
फिर भी भिखारी
को कौडी़
दे कर कोई
आता जाता
पीता खाता
खुशफहम
रहता कोई

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...